चक्रवाती तूफान ‘‘फणि(फोनी)‘‘ के लिए 24 घंटे काम करेगा कंट्रोल रूम : 0651-2446923

राज्य सरकार ने चक्रवाती तूफान ‘‘फणि(फोनी)‘‘ को ध्यान में रखते हुये संबंधित विभागों एवं सभी जिला के उपायुक्तों को आपदा प्रबंधन हेतु एक कंट्रोल रुम संचालित करने का दिया निदेश

गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग, झारखंड सरकार ने पत्र जारी कर संबंधित विभागों एवं सभी जिला के उपायुक्तों को निदेश जारी किया है कि चक्रवाती तूफान ‘‘फणि(फोनी)‘‘ को ध्यान में रखते हुये आपदा प्रबंधन हेतु एक कंट्रोल रुम संचालित किया जाये साथ ही विभाग ने पत्र के माध्यम से जानकारी दी है कि आपदा प्रबंधन द्वारा राज्य स्तर पर संचालित कंट्रोल रुम का टेलीफोन 0651-2446923 है 24×7 कार्यरत रहेगा।

मौसम विज्ञान केंद्र, रांची की सूचना है कि 3 के अपराह्न से और 4 मई तक चक्रवाती तूफान ‘‘फोनी‘‘ से झारखंड राज्य के सभी जिलों में 40-60 किलोमीटर प्रति घंटा तक की रफ्तार से तेज हवाएं चलने के साथ-साथ तेज बारिश और वज्रपात हो सकती है जिससे जान-माल की क्षति भी हो सकती है।

आज दिनांक-03.05.2019 को समुद्रतटवर्ती राज्य उड़ीसा, पश्चिम बंगाल एवं आंध्र प्रदेश में चक्रवाती तूफान ‘‘फणि(फोनी)‘‘ से बहुत सक्रिय रहेगा। झारखण्ड भी इससे आंशिक प्रभावी राज्य रहेगा। राज्य सरकार ने सुरक्षा एवं बचाव के लिए दिशा-निर्देश दिया गया है कि राज्य स्तर पर संचालित कंट्रोल रूम का टेलीफोन न. 24 घंटे कार्यरत रहेंगे ताकि जान-माल की क्षति ना हो।

यह भी जानिये–
इस चक्रवात का नाम बांग्लादेश के सुझाव पर ‘फणि’ रखा गया और इसे वहां ‘फोनी’ उच्चारित किया जाता है। इसका शाब्दिक अर्थ सांप है। देश बदलने के साथ ही शब्दों का उच्चारण भी बदलता चला जाता है। अंग्रेजी में इसे Fani लिखा जा रहा है जिसकी वजह से हिंदी में इसका उच्चारण फनी/ फनि या फानी प्रचलित हो गया।

संबंधित समाचार

error: Content is protected !!