प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की सम्पूर्ण जानकारी

आयुष्मान भारत के तहत *प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना* की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करें तथा दूसरों को भी बताये :-

1. यह योजना क्या है ?
उत्तर – यह योजना दुनियां की सबसे बड़ी मुफ्त स्वास्थ्य बीमा योजना है ! प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और मुख्यमंत्री श्री रघुबर दास जी का संकल्प है कि देश और झारखण्ड का कोई गरीब परिवार पैसे के अभाव में इलाज से वंचित न रहे ! इसी सोच के तहत देशभर में गरीबों का 5 लाख रुपये का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा कराया गया !

2. इस योजना का फायदा किसे मिलेगा ?
उत्तर – झारखण्ड के कुल 68 लाख परिवारों में से 57 लाख गरीब परिवार समेत पूरे देश में 50 करोड़ से भी अधिक लोगों को इस योजना का फायदा मिलेगा!

3. इस योजना में परिवार के सदस्यों की संख्या की कोई सीमा है?
उत्तर – नहीं , परिवार के सदस्यों की संख्या के साथ उम्र की भी कोई सीमा नहीं है ! परिवार के सभी सदस्यों को इस योजना का लाभ मिलेगा!

4. इस योजना का लाभ किस प्रकार से मिलेगा?
उत्तर – किसी भी रजिस्टर्ड अस्पताल में मुफ्त इलाज की सुविधा होगी ! अस्पताल झारखण्ड में या राज्य के बाहर भी हो सकता है ! प्रत्येक रजिस्टर्ड अस्पताल के बाहर आयुष्मान भारत का लोगो लगाना अस्पतालों के लिए अनिवार्य किया गया है!

5. इस योजना का लाभ किस स्थिति में मिलेगा ?
उत्तर- अस्पताल में भर्ती होने अर्थात अस्पतालीकरण की अवस्था में ही इस योजना का लाभ मिलेगा!

6. रजिस्टर्ड अस्पताल में लाभुकों का सत्यापन कैसे होगा ?
उत्तर – राशनकार्ड नम्बर या आधार नम्बर के माध्यम से सूचीबद्ध अस्पतालों में लाभूकों का सत्यापन किया जायेगा ! आधार कार्ड नहीं होने की स्थिति में सरकार द्वारा जारी कोई भी पहचान पत्र (जैसे- वोटर ID कार्ड , ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि ) मान्य होगा !

7. योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभुक परिवार को किसी प्रकार का भुगतान करना पड़ेगा ?
उत्तर – नहीं , किसी भी कागजी कार्रवाई में एक रुपया भी खर्च नहीं करना होगा ! यह योजना पुरी तरह मुफ्त है , इसमें सभी तरह की जाँच और दवाइयाँ भी मुफ्त है !

8. इस योजना में पहले की तरह राज्य सुरक्षा बीमा योजना की तरह नामांकन कर स्मार्ट कार्ड बनाए जाएंगे ?
उत्तर – नहीं , इस योजना में किसी भी प्रकार का नामांकन नहीं होगा ! कोई स्मार्ट कार्ड नहीं बनाये जायेंगे ! अगर आपके पास राशनकार्ड (लाल-गुलाबी) है तो आप बिना किसी कागजी कार्रवाई के योजना में शामिल हो चुके हैं !

9. परिवार के ऐसे सदस्य , जिनका नाम राशनकार्ड में नहीं है , उन्हें इस योजना का लाभ कैसे प्राप्त होगा ?
उत्तर – परिवार के जिन सदस्यों का नाम राशन कार्ड में नहीं है, वह राशनकार्ड में नाम दर्ज करा कर इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं !

10. इस योजना का लाभ झारखण्ड राज्य से बाहर प्राप्त किया जा सकता है ?
उत्तर – हाँ , योजना का लाभ पूरे देश में किसी भी रजिस्टर्ड अस्पताल से प्राप्त कर सकते हैं !

11. इस योजना से सम्बन्धित कोई भी जानकारी कैसे प्राप्त कर सकते हैं ?
उत्तर – सभी प्रकार की जानकारी टाॅल फ्री नम्बर- 14555 पर प्राप्त कर सकते हैं !

12. इस योजना के तहत लाभुक को पहले से हुई बीमारियों का इलाज हो सकता है या नहीं ?
उत्तर – हाँ , पहले से हुई बीमारियों के इलाज के लिए बीमा कवर उपलब्ध है !

13. इस योजना का लाभ जन्म लिए नवजात शिशु को मिलेगा या नहीं ?
उत्तर – हाँ , योजना अवधि में जन्म लिए नवजात शिशु स्वतः इस योजना से जुड़ जाएंगे !

14. योजना में फैमिली फ्लोटर बेसिस का क्या मतलब है ?
उत्तर – इसका मतलब यह है कि 5 लाख रुपये तक की स्वास्थ्य बीमा का लाभ परिवार के किसी एक सदस्य या सभी सदस्यों द्वारा एक बीमा अवधि में लिया जा सकता है !

15. क्या इस योजना में किसी बिमारी के इलाज को बाहर रखा गया है ?
उत्तर – हाँ , इस योजना में कुछ बीमारियों के इलाज को बाहर रखा गया है ! जैसे- जन्मजात बाह्य रोग , काॅस्मेटिक सर्जरी , टीकाकरण , प्रजनन संबंधी उपचार इत्यादि!

16. योजना से सम्बन्धित किसी प्रकार की शिकायत कहां दर्ज कराई जा सकती है ?
उत्तर – योजना से सम्बन्धित *शिकायत आॅनलाइन पोर्टल पर या टाॅल फ्री नम्बर – 14555 पर या जिला स्तरीय शिकायत निवारण समिति* के पास दर्ज कराई जा सकती है!

 

 

क्र. सं. योजना का नाम और संबन्धित विभाग कौन होंगे लाभार्थी ? क्या होगा लाभ ? कहाँ / किससे करें संपर्क ?
1. आयुष्मान भारत

(स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग)

एसईसीसी सूची के परिवार।

अन्य के लिए प्रीमियम देय।

 

बीमित परिवार के प्रत्येक सदस्य को 5 लाख रुपये की चिकित्सा सुविधा। सामुदायिक सेवा केन्द्र
2. सुकन्या समृद्धि योजना

(महिला, बाल विकास एवं  सामाजिक सुरक्षा विभाग)

10 वर्ष से कम उम्र की दो बेटियों के अभिभावक। बेटियों का भविष्य सुरक्षित करना। डाकघर/बैंक
3. मुख्यमंत्री कन्यादान योजना

(महिला, बाल विकास एवं  सामाजिक सुरक्षा विभाग)

एसईसीसी सूची के परिवार की कन्याएं। रु. 30,000/- की सहायता। जिला समाज कल्याण  कार्यालय
4. प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना

(महिला, बाल विकास एवं  सामाजिक सुरक्षा विभाग)

गर्भवती महिलाएं रु. 5000/- की आर्थिक सहायता एवं रु. 1400/- जननी सुरक्षा योजना आंगनबाड़ी केंद्र
5. मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली यो.

(महिला, बाल विकास एवं  सामाजिक सुरक्षा विभाग)

एसईसीसी सूची वाले परिवार में जन्म लेनेवाली लड़कियां। रु. 30,000/- (6000X5वर्ष) की जमा योजना। आंगनबाड़ी केंद्र
6. शादी शगुन योजना

(महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग / मौलाना आजाद फ़ाउंडेशन)

अल्पसंख्यक समुदाय की ग्रैजुएट लड़कियां। रु. 51,000/- जिला समाज कल्याण  कार्यालय
7. स्वामी विवेकानंद निःशक्त स्वावलंबन प्रोत्साहन योजना और  इन्दिरा गांधी विकलांगता पेंशन योजना

(महिला, बाल विकास एवं  सामाजिक सुरक्षा विभाग)

5 वर्ष से अधिक उम्र वाले सभी दिव्यांग जन। वि. यो. के तहत: रू. 600/- प्रतिमाह।

इन्दिरा गांधी के तहत: 18 वर्ष से 79 वर्ष तक 600/- प्रति माह’

80 वर्ष से अधिक वाले को 800/- प्रति माह

जिला समाज कल्याण कार्यालय
8. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना

(स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग)

एसईसीसी परिवार के लोग।

अन्य के लिए देय प्रीमियम पर मिलेगा लाभ।

बीमित परिवार के सदस्यों को रु॰  50 हजार से 2 लाख की चिकित्सा सुविधा। बीमा कंपनी / बीमा मित्र
9. मिशन इंद्रधनुष

(स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग)

5 साल तक के बच्चों के लिए। मुफ्त टीकाकरण। आंगनबाड़ी / स्वास्थ्य केंद्र
10. मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना

(स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग)

एसईसीसी सूची में शामिल परिवार और जिस परिवार की वार्षिक आय 72000/- रुपये से कम हो। अधिकतम रु. 5 लाख की चिकित्सा सुविधा मुफ्त। सिविल सर्जन कार्यालय
11. प्र॰ जीवन ज्योति बीमा योजना

(श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग)

18 से 50 आयुवर्ग के बचत खाताधारक। बीमाधारक की मृत्यु होने पर नामित को मिलेंगे 2 लाख। बैंक
12. प्र॰ कौशल विकास योजना

(श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग)

35 वर्ष तक के साक्षर बेरोजगार। मुफ्त प्रशिक्षण एवं रोजगार। पंजीकृत प्रशिक्षण केंद्र
13. झारखंड श्रमिक पेंशन

(श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग)

पंजीकृत श्रमिक। रु. 750/- प्रतिमाह। जिला श्रम कार्यालय
14. मेधा छात्रवृत्ति

(स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग एवं कल्याण विभाग)

कक्षा 6 से 8 तक के छात्र। रु॰ 200/- प्रतिमाह अधिकतम 10 माह तक विद्यालय
15. उजाला योजना

(ऊर्जा विभाग)

सबके लिए। एलईडी बल्ब, एलईडी ट्यूब लाइट और पंखे। कम बिजली खपत। (5 स्टार रेटिंग) विद्युत अंचल / प्रमंडल कार्यालय।
16. सौभाग्य योजना

(ऊर्जा विभाग)

बिजली कनेक्शन से वंचित परिवार। SECC सूची के परिवारों को निशुल्क और सक्षम परिवार को रु.50X10 माह। विद्युत अंचल / प्रमंडल  कार्यालय।
17. फसल बीमा योजना

(कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता  विभाग)

सभी किसान व बंटाईदार (बैंक से कर्ज लेनेवाले और कर्ज न लेनेवाले दोनों शामिल हैं।) फसल नुकसान की क्षतिपूर्ति के लिए। प्रखंड कृषि  कार्यालय
18. पीटीजी डाकिया योजना

(खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोगता मामले एवं कल्याण विभाग और कल्याण विभाग)

आदिम जनजाति के लिए। 35 किलो पैकेट चावल मुफ्त।

राशन घर तक भेजा जाता है।

जिला कल्याण कार्यालय
19. डॉ. भीमराव अंबेडकर आवास

(ग्रामीण विकास विभाग)

विधवाएं। पहाड़ी क्षेत्रों के लिए 1,30,000 / -और मैदानी क्षेत्रों में 1,20,000 रुपये की वित्तीय सहायता। प्रखंड विकास  कार्यालय
20. जन वन योजना

(वन पर्यावरण)

परती भूमि के स्वामी। वृक्षारोपण की निर्धारित लागत राशि का 50 प्रतिशत अंशदान। सामाजिक वाणिकी कार्यालय
21. बिरसा आवास योजना

(कल्याण विभाग)

आदिम जनजाति समूह। पहाड़ी क्षेत्रों में घर बनाने के लिए रु. 1, 30,000/- एवं मैदानी क्षेत्रों में रु. 1,20,000/- की सहायता। प्रखंड  कार्यालय/ समाज कल्याण  कार्यालय
22. उद्यमी सखी मंडल (जेएसएलपीएस) सखी मण्डल की सदस्य। रु.15000/-

रु. 50000/- से 75000/-

2 लाख तक मुद्रा ऋण एवं ब्याज में 3% की छुट।

बैंक से अधिकतम 10 लाख तक ऋण।

जेएसएलपीएस
23. मानकी, मुंडा/ग्रा.प्र. व डाकुवा योजना

(राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग)

मानकी, मुंडा/ग्रा.प्र. व डाकुवा (संदेश वाहक)। प्रतिमाह सम्मान राशि क्रमशः रु. 3,000, 2000 और 1000 अंचल कार्यालय
24. दुधारू मवेशी वितरण कार्यक्रम

(कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग)

एसईसीसी सूची में शामिल परिवार और जिस परिवार की वार्षिक आय 72000/- हो। 50 प्रतिशत अनुदान और 50 प्रतिशत बैंक ऋण पर 2 मवेशी। गव्य विकास कार्यालय
25. मिनी डेयरी

(कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग)

ग्रामीण प्रगतिशील किसान या युवा शिक्षित बेरोजगार। 50 प्रतिशत अनुदान और 50 प्रतिशत बैंक ऋण पर 5 मवेशी। गव्य विकास कार्यालय
26. उज्ज्वला योजना

(खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोगता मामले)

एसईसीसी सूची के परिवार। मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन। एमओ/डीएसओ/बीओ

संबंधित समाचार