जमीन विवाद में भाई पर भाई के क़त्ल का आरोप

युधिष्ठिर महतो/धनबाद :: बरवाअड्डा, धनबाद में जमीन विवाद का एक ऐसा मामला सामने आया।जिसमें ज़मीन की खातिर एक भाई ने ही अपने दूसरे भाई को मौत के घाट उतार दिया।सूत्रों से मिली जानकरी के अनुसार बताया जा रहा कि बड़े भाई ने मारपीट के बाद अपने छोटे भाई को जबरदस्ती जहर पिलाकर जान से मारने का प्रयास किया।जिसके बाद इलाज के दौरान अस्पताल में पीड़ित की मौत हो गयी।यह घटना धनबाद जिले के बरवाअड्डा थाना क्षेत्र के खरनी गांव की हैं।इस घटना में मृतक के परिजनों द्वारा ही हत्या का आरोप लगाया जा रहा है।

परिजनों का कहना हैं पहले जमीन विवाद में जमकर मारपीट हुई और फिर शाम को बड़े भाई के द्वारा छोटे भाई को जहर देकर जान से मारने का प्रयास किया गया।जिसके बाद इलाज के दौरान पीड़ित सुवेश कुमार चौधरी की मौत हो गयी।मृतक के परिजनों ने बरवाअड्डा थाने की पुलिस पर गंभीर आरोप लगायें।परिजनों का कहना हैं कि पीड़ित द्वारा थाने में शिकायत के बावजूद उचित कार्रवाई नहीं हुई।जिसका खामियाजा पीड़ित की जान से चुकानी पड़ी।

आपको बता दे कि रानी गांव में जमीन विवाद में बीते 15 अप्रैल की सुबह को दोनों भाइयों के बीच जमकर मारपीट हुई।जिसके बाद सुवेश कुमार चौधरी बरवाअड्डा थाना पहुंचकर आरोपी के खिलाफ शिकायत की। लेकिन परिजनों का आरोप है कि बरवाअड्डा थाने की पुलिस ने किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की।सुवेश कुमार चौधरी की इलेक्शन ड्यूटी थी।जिस कारण वे थाने में अपना आवेदन देकर जिला समाहरणालय के लिए निकल गए।जबकि उसी शाम को घर लौटने पर उसके बड़े भाई भूदेव सिंह चौधरी उसके पुत्र अवधेश कुमार एवं केदार कुमार ने मारपीट कर जबरन जहर पिला दिया और फिर 100 नंबर में फोन करने पर बरवाअड्डा थाने की पुलिस पहुंची।

घटना के तुरंत बाद ही सुवेश कुमार चौधरी को धनबाद के पीएमसीएच अस्पताल में भर्ती करवाया।लेकिन, मृतक के पुत्र शशिकांत और मृतक के एक छोटे भाई ने बरवाअड्डा थाना पर गंभीर आरोप लगाया।उन्होंने कहा कि अगर पुलिस सही समय पर सुबह ही पहुंच जाती तो शायद इस प्रकार की घटना नहीं होने की सम्भावना होती।लेकिन पुलिस की लापरवाही ने इस घटना को बढ़ावा दिया हैं।परिजनों का कहना हैं कि आए दिन मारपीट की घटना घटित होना साधारण बात हैं।पर पुलिस को शिकायत करने के बाद भी पुलिस कोई ठोस कार्रवाई नहीं करती हैं। जिस कारण आज इतनी बड़ी घटना घटी हैं। पीएमसीएच में इलाज के दौरान सुवेश चौधरी की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें रांची रिम्स रेफर किया गया।जहां इलाज के दौरान उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बरवाअड्डा थाना प्रभारी से जब इस मामले से सम्बंधित जानकारी लेने का प्रयास किया गया तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।उन्होंने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है और ऐसे आरोपियों को छोड़ा नहीं जायेगा।उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जायेगी।

संबंधित समाचार

error: Content is protected !!