स्वस्थ्य लाभ हेतु विभिन्न आसनों की शरण जायें नेता

[व्यंग्य] अभी कल ही बिहार की पुण्य भूमि में कुछ खेमाबदली की महत्वपूर्ण घटनाएँ देखने को मिलीं जो कुछ राजनितिक दलों को ख़ुशगवार कर गईं तो कुछ को नाराज़! अब इससे किसका कितना स्वास्थ्य लाभ होने वाला है ये तो समय ही बताएगा पर सुनने में आया है कि विश्व के सभी  योगाचार्यों ने समुहिकरुप से ऐसे नेताओं को सलाह दी है कि व़े  अपने राजनितिक स्वस्थ्य लाभ हेतु विभिन्न आसनों की शरण जायें! उनके द्वारा सुझावित महत्वपूर्ण आसन की प्रतिलिपि यहाँ प्रस्तुत हैं –    भासन – ‘भ’ आसन…

अधिक पढ़ें

देवर की खोज

अपने सगी सहेलियों या सम्बन्धियों से जब मैं देवरो की चर्चा, उनके हास-परिहास, व्यंग्य-विनोद सुनती हूं तो मेरा जी भी एक देवर पाने को आतुर हो जाता है। सच मानिए जब से मै सौभाग्यवती हुई हूँ भगवान ने सारी मनोकामनाएँ पूर्ण की है। रोटी, कपड़ा और मकान के इस किल्लत भरे देश में रहकर भी मेरे पास सब कुछ है। पति भी ईश्वर की कृपा से ठीक ही है। कवि है इसलिए शुरू-शुरू में लगा था कि कहाँ आ फँसी हूँ। लेकिन अब झेलते-झेलते आदत पड़ गई है। हां, कमी…

अधिक पढ़ें

इस साल मैं भी होली खेलूंगी, आर्यपुत्र!

घटाएं उमड़-घुमड़ करने लगी और बतौर चुहल मुझ पर बरसने के लिए मौके की तलाश करने लगी। एक दिन जैसे ही मैं दफ्तर से लौटा, उन घटाओं ने मुझे दरवाजे पर ही घेर लिया और मुझे अच्छी तरह भिगो दिया। मुझे पहले से मालूम होता तो मैंने दाते-वाते का इन्तजाम कर लिया होता या फिर आफिस से ही लेट लौटता। उस दिन भीगना मुकद्दर में लिखा था, सो भीग लिए। जब मैं सराबोर हो गया, तो पत्नीश्री बिना किसी भूमिका के बतर्ज ‘महाभारत’ बोली, ‘‘मैंने सोच रखा है, कि इस…

अधिक पढ़ें

चन्द्रपुरा में ‘धरोहर’ की “सुमंगली” ने दर्शकों को रुला-सा दिया

झारखण्ड की जानी-मानी सांस्कृतिक संस्था ‘धरोहर’ के कलाकारों ने एक और सफल नाट्य प्रस्तुति दी है जो भावुकता से परिपूर्ण रही और अपने दर्शकों को रुला-सा दिया. सांस्कृतिक संस्था ‘धरोहर’ ने गत मंगलवार (30.01.2018) की रात चन्द्रपुरा (बोकारो ) के स्थानीय वेलफेयर सेंटर में “सुमंगली” नामक नाटक का सफल मंचन किया. चंद्रपुरा की साहित्यकार व डीवीसी की रिटायर शिक्षिका कावेरी जी द्वारा लिखित कहानी ‘सुमंगली’ पर आधारित इस नाटक का निर्देशन संजय कुमार ने किया. कार्यक्रम का उद्घाटन स्थानीय प्रशिक्षु डीएसपी आलोक रंजन ने किया। इस नाटक में स्थानीय कलाकारों…

अधिक पढ़ें