क्रिसेन्ट पब्लिक स्कूल में माॅक पार्लियामेन्ट, सांसदों ने बतायीं इवीएम की खामियां व खूबियां

मुख्यधारा/Bokaro :: आज क्रिसेन्ट पब्लिक स्कूल बोकारो में वर्ग दस के विद्यार्थियों द्वारा संसदीय परंपराओं तथा उसकी बारीकियों को जानने के उदे्श्य से माॅक पार्लियामेन्ट का आयोजन किया गया। विद्यार्थियों ने संसद सत्र् के दौरान विभिन्न संसदीय गतिविधियों प्रश्न काल, शून्य काल, अविश्वास प्रस्ताव तथा कानून बनने कि प्रक्रियाओं को माॅक पार्लियामेन्ट के माध्यम से बारीकी से सीखा। इस माॅक पार्लियामेन्ट सत्र में सत्ता पक्ष के मंत्रियों तथा विपक्ष के सदस्यों के रुप में वर्ग दस के 72 विद्यार्थियों ने इस विषय पर तीखी बहस करते हुए इवीएम तथा बैलेट पेपर द्वारा चुनाव की खूबियां और खामियां गिनायी। विपक्ष के सांसदों ने इस मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश की। कांग्रेस तथा विरोधी दल के सदस्यों ने अपने तर्क के माध्यम से इवीएम के दुरूपयोग की संभावना जताई और फिर से बैलेट पेपर का उपयोग किये जाने पर बल दिया। वहीं भाज़पा तथा उसके सहयोगी दलों द्वारा इवीएम के उपयोग पर बल देते हुए निष्पक्ष चुनाव के लिए इसे आवश्यक बताया। इस क्रम में कई बार सत्ता पक्ष एवं विपक्ष में तीखी नोकझोक हुई और स्पीकर को हस्तक्षेप करना पड़ा।

वहीं प्रधानमंत्री बने छात्र आदित्य कुमार, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन के रुप में छात्रा श्वेता तथा पिंकी कुमारी, रितु कुमारी, दिनेश, अदिति आदि ने सरकार का बचाव करते हुए विपक्ष के प्रश्नों का करारा जबाव दिया। उन्होनें सरकार के कदम को देश हित में सही कदम बताते हुए कहा कि इसके माध्यम से चुनाव में बाहुबल के प्रयोग को रोकने में मदद मिली है। वहीं विपक्ष के रुप में राहुल गांधी एवं अन्य नेताओं की भूमिका में छात्र उत्सव तथा अमन, संजय, विक्रम, मनोज, प्रकृति कुमारी, मदिहा, सिफ़त आदि ने सरकार को घेरा।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के रुप में छात्रा निशू ने लोकसभा सत्र् का संचालन किया।

कार्यक्रम का रोचक संचालन छात्रा अंजली वर्मा ने किया। विद्यार्थियों ने पूरे संसद सत्र् के दौरान विभिन्न गतिविधियों प्रश्नकाल, शून्यकाल, अविश्वास प्रस्ताव तथा कानून निर्माण आदि को प्रदर्शित करते हुए अपने संसदीय ज्ञान में वृद्धि की। सत्र् की शुरूआत वंदे मातरम् गीत तथा समापन राष्ट्रगान से हुआ। इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य अनिल कुमार गुप्ता ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों का उद्ेश्य छात्रों को भारत के गौरवशाली संसदीय इतिहास एवं परंपराओं से परिचित कराना हैं। यह हर भारतीय के लिए गर्व की बात है की भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है तथा पिछले 7 दशकों से यह सफलतापूर्वक काम कर रहा है। माॅक पार्लियामेन्ट के आयोजन का मार्गदर्शन सामाजिक विज्ञान के वरीय शिक्षक अनुपमा कुमारी तथा पंकज कुमार झा ने किया।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में क्रिसेन्ट पब्लिक स्कूल चास के सामाजिक विज्ञान काॅडिनेटर वसंत कुमार मिश्रा उपस्थित थे। इस अवसर पर दर्शक दीर्घा में सेकेन्डरी सेक्सन के सभी विद्यार्थी तथा शिक्षक शिक्षिकायें उपस्थित थे।

संबंधित समाचार