प्रख्यात शिक्षाविद् नीलकमल सिन्हा बनीं डीपीएस चास की नयी प्राचार्या

बोकारो डेस्क: झारखंड के कोयलांचल क्षेत्र की प्रख्यात शिक्षाविद् नीलकमल सिन्हा दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) चास की नयी प्राचार्या बनी हैं। शिक्षण, प्रबंधन व प्रशासन के क्षेत्र में दो दशक से भी अधिक समय का अनुभव रखनेवाली नीलकमल सिन्हा ने डीपीएस चास की प्राचार्या के रुप में पदभार संभालने के बाद गुरुवार को चास टाउनशिप में शुरु की गयी विद्यालय की नर्सरी इकाई का भ्रमण करने पहुंची। इस मौके पर उन्होंने कहा कि विभिन्न ओलंपियाड प्राथमिक स्तर के बच्चों की सोच को आगे बढ़ाते हैं और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए तैयार करते हैं।

बोकारो में सीबीएसई स्कूलों में आपसी समन्वय स्थापित करने के उद्देश्य से स्थापित डाॅ राधाकृश्णन सहोदया स्कूल काॅम्प्लेक्स के महासचिव का दायित्व भी संभाल रहीं नीलकमल सिन्हा ने ओलंपियाड परीक्षाओं के बारे में बताते हुए कहा कि स्कूल स्तर पर ओलंपियाड की परीक्षाएं विद्यालय के सिलेबस के आधार पर आयोजित की जाती हैं जो विज्ञान, गणित, सामान्य ज्ञान, कंप्यूटर व भाशा ज्ञान को बढ़ावा देती हैं। विगत 2 दशक में बोकारो के बच्चों ने विभिन्न ओलंपियाडों में उत्कृश्ट प्रदर्शन किया है और देश ही नहीं वैश्विक स्तर पर भी बोकारो को गौरवान्वित किया है।

श्रीमती सिन्हा ने कहा कि अधिकांश माता-पिता और छात्रों की गलत धारणा है कि ओलंपियाड नियमित अध्ययन के साथ-साथ एक बोझ है, लेकिन वास्तव में ओलंपियाड परीक्षा एक अद्वितीय प्रतिस्पर्धी मंच प्रदान करती है जिसमें कई प्रतिभाओं की पहचान की जा सकती है।

उन्हांेने कहा कि ओलंपियाड में भाग लेने से बेहतर करने के लिए बच्चे प्रेरित होते हैं और अच्छा रैंक मिलने से निश्चितरुप से वे और बेहतर करने के लिए प्रोत्साहित होते हैं। ओलंपियाड में प्रश्नों का पैटर्न वैचारिक होता है और इसकी तैयारी से छात्रों के विश्लेषणात्मक कौशल का विकास होता है और विषय को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है।

डीपीएस चास की नयी प्राचार्या नीलकमल सिन्हा ने कहा कि उन्होंने स्कूल में पढ़नेवाले बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए ब्लू प्रिंट तैयार किया है। स्कूल के सिलेबस के साथ ही विभिन्न ओलंपियाड में भी बच्चों का प्रदर्शन उल्लेखनीय हो इसको ध्यान में रखकर कार्य करेंगी।

उल्लेखनीय है कि डीपीएस चास की प्राचार्या बनने के पूर्व श्रीमती सिन्हा डीएवी पब्लिक स्कूल, सेक्टर 6, बोकारो में प्राचार्या के पद पर कार्यरत थीं।

संबंधित समाचार

error: Content is protected !!