एम एंड एस कंपनी द्वारा दिहाड़ी मजदूरों का किया जा रहा शोषण

कृष्णा/BOKARO :: जरीडीह प्रखंड में पीडब्लूडी सड़क निर्माण करा रहे एम एंड एस कम्पनी द्वारा बडे़-बड़े ठीकेदार, पेटी ठीकेदार और मुंशी के द्वारा दिहाडी मजदूरों को कार्य स्थल पर धमकार कर, कम मजदूरी भुगतान किये जाने का ममला प्रकाश में आया है। मजदूरों ने अपने शोषण किये जाने के विरोध में आक्रोशित होकर आन्दोलन कर सरकार के द्वारा निर्धारित मजदूरी भुगतान करने की मांग की है ।

जरीडीह प्रखण्ड के सूदूरवर्ती क्षेत्र अराजू पंचायत में एम एंड एस कंपनी के द्वारा पीडब्लुडी सडक निर्माण का काम काराया जा रहा है। कंपनी एवं उनके पेटीदार के द्वारा मजदूरों को 150 रूपए रेजा और 180 रूपए पुरूष मजदूर को मजदुरी भुगतान किया जाता है। जबकि इसी गाॅव में छोटे ठीकेदारों के द्वारा कई योजनाओ का काम कराये जाने पर 200 से लेकर 240 रूपए तक का मजूदरी भुगतान किया जाता रहा है।

अराजू पंचायत के पुरनापानी सहित कई गाॅवों के मजदूरों ने नेता मनेश राम मांझी के नेतृत्व में एकजूट होकर शोषण बंद करने और निर्धारित मजदुरी देने की मांग की।

कंपनी के कर्मचारी मिथलेष कुमार ने कहा कि कंपनी मजदूरी के रूप् में पेटी ठीकेदार को अधिक रूपए भुगतान करती है। मजदूरों के शोषण की जिम्मेवार बीच के लोग होते है। जिसकी निष्पक्ष जाॅच कर मजदूरों को निर्धारित मजदुरी दिलाई जायेगी ।

मौके पर मूनेश राम मांझी, नागेश्वर हेम्ब्रम, लखिष्वर हेम्ब्रम, विद्यासागर, सुरेन्द्र प्रसाद हेम्ब्रम, दिलिप कुमार वेसरा, नुनीवाला देवी, छुमकी देवी, सुलोचना देवी, पानमती देवी, विन्देष्वरी देवी, किरण कुमारी आदि दर्जनों मजदूर शामिल थे।

संबंधित समाचार

error: Content is protected !!