JMM कार्यकर्त्ता सम्मेलन -बोकारो के JMM कार्यकर्त्ता काम करें भी तो किसके लिए?

ललित मिश्रा/BOKARO :: लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र JMM में आजकल आपसी खींचतान, घमासान और ऊहापोह का माहौल है। बोकारो के JMM कार्यकर्त्ता भटके भटके से हैं और एक दूजे से कह रहे हैं कि “दुल्हा का पता नहीं तो बारती तैयारी कैसे करे..किसके लिए करे…!

बोकारो में झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्त्ता कार्यशाला सम्मेलन का आयोजन कराया गया। पार्टी मिशन 2019 के लिए तैयारी करने बोकारो के सेक्टर 1 के हंस मंडप में जुटी थी। कहने को तो इस कार्यकर्त्ता कार्यशाला सम्मेलन से जेएमएम की चुनावी कैंपेन की शुरूआत भी हो गई…पर बिन मांझी-पतवार नाव कौन किनारे लगाए? बोकारो के JMM कार्यकर्त्ता काम करें भी तो किसके लिए?

कार्यक्रम में डुमरी विधायक योगेन्द्र महतो, जिलाध्यक्ष हीरालाल मांझी, वरिष्ठ जेएमएम नेता और हंस रिजेन्सी के मालिक हीरालाल गुप्ता, मंटू यादव, कन्हैया कुमार समेत पार्टी के नेता जुटे थे। इस कार्यक्रम को बीजेपी के बूथ स्तर के कार्यकर्त्तााओं  को तैनात करने के जवाब माना जा रहा है। जेएमएम भी बीजेपी की तरह बूथ और पंचायत स्तर पर कार्यकर्त्तााओं  को मुस्तैद करना चाह रही है।

पर, कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं ने एक सुर में मांग की कि पार्टी पहले बोकारो में लोकसभा के लिए अपना कैंडिडेट तय करें और उनका नाम घोषित करें; जिससे कार्यकर्ताओं में असमंजस की स्थिति नहीं रहे। सबने पार्टी आलाकमान पर नाराज़गी दर्शाते हुए कहा कि जब कार्यकर्ताओं को ये पता होगा कि उनका नेता कौन है तो जनता के बीच जाकर उनके लिए काम कर सकेंगे। वहीं कुछ कार्यकर्ताओं ने ये भी कहा कि पार्टी की नीतियों को जमीन पर उतारने की जरूरत है।

जेएमएम विधायक योगेन्द्र महतो ने कहा कि उनकी पार्टी 2019 के लिए पूरी तरह तैयार है। JMM हर मोर्चे पर बीजेपी और दूसरे दलों को मात देने के लिए तैयार है। महतो ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि रघुबर सरकार हर मोर्चे पर फेल है। हम चुनाव में उनके सारे वादे याद दिलाएंगे और फिर जनता उनको जवाब देगी। बीजेपी का चुनाव में हराना तय। साथ ही योगन्द्र महतो ने रघुवर सरकार के बोकारो को पूर्ण विद्युतीकरण वाला जिला घोषित करने पर भी सवाल उठाया। वहीं पार्टी के लोकसभा उम्मीदवार जल्द तय करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ये पार्टी के बड़े नेताओं को तय करना है। मैं इसके लिए जिम्मेदार नहीं।

जबकि वरिष्ट जेएमएम नेता हीरालाल गुप्ता ने कहा कि वो चुनाव लड़ने के लिए तैयार है। उन्हें खुद गुरूजी यानि शिबु सोरेन ने चुनाव की तैयारी करने के लिए कहा है…

अब पूरी सच्चाई जो भी हो पर यह तो तय है कि इस कार्यकर्त्ता सम्मलेन में JMM कार्यकर्तों को अपने खेवइया यानि सही लोकसभा प्रत्याशी की कमी काफी खली। संभवतः JMM आलाकमानों को इसका जवाब पता हो पर वो हवा का रुख़ देखते हुए अपने पत्ते खोलना चाहते हों।

पर सवाल ये उठता है कि ये कोई सार्वजानिक सम्मलेन नहीं बल्कि सिर्फ अपने ही कार्यकर्ताओं का सम्मलेन था, तो फिर अपने ही JMM कार्यकर्ताओं से पर्दा क्यों? क्यों अपने ही कार्यकर्ताओं पर विश्वास नहीं?!

संबंधित समाचार