राजभाषा पखवाड़ा के अवसर पर समिति कक्ष में काव्यगोष्ठी आयोजित

‘हिन्दी ने हम सबको जोड़ा, एकसूत्र में हमें पिरोया…’

अरुण/BOKARO :: बोकारो स्टील प्लांट में हिन्दी को बढ़ावा देने के उद्येश्य से आयोजित राजभाषा पखवाड़ा (14 से 28 सितंबर) के क्रम में सोमवार की शाम प्रशासनिक भवन के समिति कक्ष में भव्य काव्य गोष्ठी का आयोजन हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में बीएसएल के उप महाप्रबंधक (विपणन) शैलेश कुमार उपस्थित थे। इस काव्य गोष्ठी में बोकारो के लब्ध प्रतिष्ठित कवि-कवयित्रियों ने हिन्दी की महत्ता को रेखांकित करती कविताओं के साथ ही गीत-गज़ल व समसामयिक मुद्दों पर आधारित रचनाएं सुनाकर श्रोताओं को आकर्षित किया। काव्य गोष्ठी की अध्यक्षता कवयित्री भावना वर्मा ने की तथा संचालन उभरते हुए युवा कवि व बीएसएल के सहायक प्रबंधक (एसएमएस-1) ब्रजेश पाण्डेय ने किया।

इस अवसर पर वरिष्ठ कवि महेश शर्मा मेंहदी, डाॅ परमेश्वर भारती, दिलकश बोकारवी, राम नारायण उपाध्याय, भावना वर्मा, उषा झा, अरुण कुमार पाठक, डाॅ रंजना श्रीवास्तव, ज्योति वर्मा, कस्तूरी सिन्हा, सुबोध कुमार शैलांश, शिवनाथ प्रमाणिक, गिरिधारी गोस्वामी उर्फ आकाश खूंटी, बलराम दुबे, ज्योतिर्मय डे राणा, समीर स्वरुप गर्ग, धर्मेन्द्र कुमार तंबोली, अभिनव शंकर, ब्रजेश पांडेय, अमन कुमार मिश्र, कुमार केशवेन्द्र, नीता राय, मनोज कुमार निशांत, सुजाता राय, प्रिया राय, मीरा जोगी, प्रभु नारायण सिंह, मयंक अग्रवाल, कुमारी स्वाती, श्वेता, कमल किशोर सिंह, दयानंद सिंह, बबीता कुमारी, लिली, कृष्ण मुरारी प्रसाद, ए के मिश्र, दुलीचन्द आदि ने काव्यपाठ कर श्रोताओं को आनंदित किया। अरुण पाठक ने हिन्दी की महत्ता को दर्शाती अपनी कविता ‘हिन्दी है हम सबकी भाषा, हिन्दी है जन-जन की भाषा/हिन्दी को सम्मान दिलाना हम सबकी उत्कट अभिलाषा/हिन्दी ने हम सबको जोड़ा, एकसूत्र में हमें पिरोया/केवल नहीं देश की आशा, सज्जित है अंतर्राष्ट्रीय भाषा…’ सुनाकर सबकी दाद पाई।

मुख्य अतिथि शैलेश कुमार ने कवि-कवयित्रियों को उपहार भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने प्रतिभागी कवियों की प्रस्तुतियांे की सराहना की। प्रारंभ में कवियों का स्वागत राजभाषा विभाग की सहायक महाप्रबंधक शांता एच सिन्हा ने किया। अंत में धन्यवाद ज्ञापन उपप्रबंधक (राजभाषा) एस के बरियार ने किया।

संबंधित समाचार