दवा पिलाने से एक वर्षीय बच्ची की मौत डायग्नोस्टिक सेंटर पर लगाया लापरवाही का आरोप

जमशेदपुर : बिरसानगर थाना अंतर्गत जोन नंबर 4 निवासी 1 वर्षीय अक्षिता रॉय को अत्यधिक खांसी की शिकायत पर परिजन आइडियल डायग्नोसिस सेंटर इलाज के लिए पहुंचे. डायग्नोसिस सेंटर में बच्ची का सिटी स्कैन करने के लिए उसे दवा पिलाई गई. दवा पिलाते ही बच्ची की तबीयत बिगड़ने लगी और चेहरा नीला पड़ने लगा. डायग्नोसिस सेंटर वालों ने बच्ची को इलाज के लिए टाटा मुख्य अस्पताल ले जाने की सलाह दी. मगर अस्पताल लाने के समय रास्ते में ही बच्ची ने दम तोड़ दिया. बच्ची की मौत से गुस्साए परिजनों ने आइडियल डायग्नोसिस सेंटर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा शुरू कर दिया. हंगामे की सूचना किसी ने साकची थाने को दी.

पुलिस दल बल के साथ मौके पर पहुंची और मामला शांत कराया. घटना के बारे में अमृत बच्ची के पिता ने कहा कि उसकी एक वर्षीय बेटी अक्षिता रॉय को खांसी की शिकायत को लेकर अभिषेक चाइल्ड केयर के डॉ. सुमैया घोष के पास इलाज चल रहा था. खांसी होने के कारणों का पता नहीं चल पाने के कारण डॉक्टर ने बच्ची का सीटी स्कैन करने की सलाह दी, जिसके बाद उसे आइडियल डायग्नोसिस में लाया गया. बच्ची नहीं सो रही थी. बच्ची को सुलाने के लिए सेंटर में लिक्विड दवा पिलायी गयी.

दवा पिलाने ही बच्ची की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी और बेचैनी के साथ साथ खांसी भी बढ़ गई. साथ ही चेहरे का रंग नीला पड़ने लगा. आनन-फानन में परिजनों ने बच्ची को टीएमएच अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने जांच कर बच्ची को मृत घोषित कर दिया. इसके बाद बच्ची के परिजनों ने आइडियल डायग्नोसिस सेंटर में जमकर हंगामा किया. हंगामा बढ़ता देख पुलिस घटनास्थल पर पहुंची. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.

संबंधित समाचार

error: Content is protected !!